Breaking News

Home » प्रदेश » उदयपुर संसदीय क्षेत्र की तस्वीर साफ, 8 प्रत्याशी चुनाव मैदान में किसी भी उम्मीदवार ने नहीं लिया नाम वापस

उदयपुर संसदीय क्षेत्र की तस्वीर साफ, 8 प्रत्याशी चुनाव मैदान में किसी भी उम्मीदवार ने नहीं लिया नाम वापस

उदयपुर/Udaipur- लोकसभा आम चुनाव- 2024 के तहत उदयपुर संसदीय क्षेत्र की तस्वीर साफ हो गई है। नाम वापसी की अंतिम तिथि तक उदयपुर में किसी भी प्रत्याशी ने अपना नामांकन वापस नहीं लिया। अब उदयपुर में कुल 8 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

जिला निर्वाचन अधिकारी अरविन्द पोसवाल ने बताया कि उदयपुर संसदीय क्षेत्र के लिए कुल 8 प्रत्याशियों ने नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत किए थे। जांच में सभी नामांकन वैध पाए गए थे। सोमवार अपराह्न 3 बजे तक नाम वापसी की अंतिम समय सीमा निर्धारित थी, लेकिन इस दरम्यान किसी भी प्रत्याशी ने नामांकन वापसी के लिए आवेदन नहीं किया। निर्धारित समय के पश्चात प्रत्याशियों की अंतिम सूची जारी करते हुए चुनाव चिन्ह आवंटित कर दिए गए हैं। इसमें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के ताराचंद मीणा को हाथ का निशान, बहुजन समाज पार्टी के दलपतराम गरासिया को हाथी, भारतीय जनता पार्टी के मन्नालाल रावत को कमल का फूल, भारत आदिवासी पार्टी के प्रकाशचंद्र को हॉकी, इंडियन पीपुल्स ग्रीन पार्टी के राजेंद्र कुमार को मटकी, निर्दलीय कानजी डामोर को टिल्लर (कल्टी), निर्दलीय प्रभु लाल को चारपाई तथा निर्दलीय डॉ सविता कुमारी अहारी को गैस सिलेण्डर चिन्ह आवंटित हुआ।

चुनाव प्रेक्षक व पुलिस प्रेक्षक की उपस्थिति में बैठक

लोकसभा आम चुनाव- 2024 के तहत सोमवार अपराह्न कलेक्ट्रेट मिनी सभागार में प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह आवंटन का लेकर बैठक हुई। चुनाव प्रेक्षक ओवैस अहमद राणा, पुलिस प्रेक्षक एम शांति तथा रिटर्निंग अधिकारी अरविन्द पोसवाल की उपस्थिति में हुई बैठक में उदयपुर संसदीय क्षेत्र के प्रत्याशियों अथवा उनके चुनाव व व्यय अभिकर्ताओं ने भाग लिया। प्रारंभ में प्रत्याशियों व अभिकर्ताओं को आदर्श आचार संहिता की पालना सुनिश्चित करते हुए शांतिपूर्ण व पारदर्शी निर्वाचन में सहयोग का आग्रह किया। किसी भी प्रकार की सभा, रैली, चुनावी कार्यालय स्थापना आदि को लेकर सक्षम स्वीकृति की प्रक्रिया बताई। चुनाव प्रेक्षक ने प्रत्याशियों की वरी लिस्ट भी चर्चा करते हुए कहा कि निर्वाचन के निष्पक्ष और पारदर्शी रहने में किसी भी प्रकार की बाधा की संभावना हो, किसी बूथ पर मतदान अथवा मतदाताओं को प्रभावित या भयभीत किए जाने की आशंका हो या अन्य कोई तथ्य जो चिंता का विषय हो उसकी सूची बनाकर यथाशीघ्र उपलब्ध कराई जाए, ताकि उसका समय रहते समाधान किया जा सके। इसके अलावा सी-विजिल एप तथा निर्वाचन व्यय आदि की भी जानकारी दी गई। पुलिस प्रेक्षक ने कानून व्यवस्था से जुड़े किसी भी विषय में अविलम्ब सूचित करने की बात कही। बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी एडीएम प्रशासन दीपेन्द्रसिंह राठौड़, एडीएम सिटी राजीव द्विवेदी, आचार संहिता प्रकोष्ठ प्रभारी जितेंद्र ओझा सहित अन्य अधिकारीगण, प्रत्याशी, उनके अभिकर्ता आदि उपस्थित रहे।

Pavan Meghwal
Author: Pavan Meghwal

पवन मेघवाल उदयपुर जिले के गोगुंदा ब्लॉक के मन्नाजी का गुड़ा गांव के है। इन्होंने मैकेनिकल इंजिनियरिंग की पढ़ाई के बाद स्टार्टअप शुरू किए। ये लिखने-पढ़ने के शौकीन है और युवा पत्रकार है।

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram

Leave a Comment

Realted News

Latest News

राशिफल

Live Cricket

[democracy id="1"]