Breaking News

Home » Uncategorized » मेवाड़ में आने वाले विदेशी मेहमानों को आकर्षित करता खाखरे का फूल

मेवाड़ में आने वाले विदेशी मेहमानों को आकर्षित करता खाखरे का फूल

गोगुंदा। Udaipur – बदलते मौसम के अनुसार पतझड़ और बसंत ऋतु के खत्म होते ही पेड़ पौधों में नए फूलों का अंकुरित होना और फूलों कि खुश्बू से वातावरण को आकर्षित बनाता है। ऐसे ही अंकुरित फूलों के साथ पलाश का पेड़ अपने फूलों से प्रकृति को सुंदरता का बनाए हुए हैं । वैसे इस पेड़ को राजस्थान में भी कहीं नामों से जाना जाता है उसी प्रकार मेवाड़ में इस पेड़ को खाखरे के नाम से और हिंदी में इसे पलाश के नाम से जाना जाता है। इसके फूलों से हर्बल गुलाल और विभिन्न प्रकार कि जड़ी बूटियां बनाईं जाती है। आपको बता दें कि पलाश के फ़ूल बहुत ही आकर्षक होते हैं । इसके आकर्षक फूलों के कारण इसे जंगल की आग भी कहा जाता हैं। पलाश का फूल उत्तर-प्रदेश और झारखण्ड का राज्य पुष्प है । वहीं इसको भारतीय डाक तार विभाग द्वारा डाक टिकट पर प्रकाशित कर सम्मानित किया जा चुका है। प्राचीनकाल से ही होली के रंग इसके फूलो से तैयार किए जाते रहे हैं। खाखरे का फूल (पलाश) वर्तमान समय में आधुनिक तकनीकी से जड़ी बूटियों सहित अन्य औषधीय प्रयोग किए जा रहे हैं। वहीं पलाश में कृमि नाशक गुण होने के कारण इसका उपयोग मुख्य रूप से पेट के कीड़ों से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है।
Pavan Meghwal
Author: Pavan Meghwal

पवन मेघवाल उदयपुर जिले के गोगुंदा ब्लॉक के मन्नाजी का गुड़ा गांव के है। इन्होंने मैकेनिकल इंजिनियरिंग की पढ़ाई के बाद स्टार्टअप शुरू किए। ये लिखने-पढ़ने के शौकीन है और युवा पत्रकार है।

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram

Leave a Comment

Realted News

Latest News

राशिफल

Live Cricket

[democracy id="1"]